गणतंत्र दिवस की जानकारी | Republic Day Information In Hindi

आज हम इस लेख में जानने वाले हैं गणतंत्र दिवस के बारे हिंदी में जानकारी (Republic day information in hindi), जिसे ही हम गणतंत्र दिवस भी कहते हैं। आज के लेख में हम जानेंगे कि गणतंत्र दिवस (Republic day) क्या है, गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है, गणतंत्र दिवस कैसे मनाते हैं और गणतंत्र दिवस के दिन होने वाले कुछ कार्यक्रमों के बारे में भी चर्चा करेंगे। तो चलिए जानते हैं गणतंत्र दिवस के महत्व को।


26 January Republic Day Information In Hindi


Republic Day क्या है और इसे क्यों मनाया जाता है ?

Republic day भारत का सबसे महत्वपूर्ण दिन है। इस दिन को पूरा भारत देश अपना धर्म जात भुलाकर एक होता है और भारतीय होने का धर्म निभाता है। Republic day जिसे हम हिंदी में गणतंत्र दिवस करते हैं। इसे 26 जनवरी को हर साल मनाया जाता है।

26 जनवरी को हम Republic day इसलिए मनाते हैं, क्योंकि इस दिन भारत का संविधान लागू हुआ था और इसी बात को हमेशा याद रखने के लिए हम इस दिन को मनाते हैं।

गणतंत्र दिवस का इतिहास

आपको पता है कि हमारा भारत देश 1947 के पहले ब्रिटिश राज का गुलाम था। जब स्वतंत्रता सेनानियों ने स्वतंत्रता आंदोलन किए तब जाकर 15 अगस्त 1947 में हमारा भारत देश स्वतंत्र हुआ। देश के स्वतंत्र होते ही भारत ने अपना संविधान बनाया और खुद को स्वतंत्र देश घोषित कर दिया।

हालांकि भारत का अभी भी स्थाई संविधान नहीं बना था। 28 अगस्त 1947 को ड्राफ्टिंग कमेटी को एक स्थाई संविधान का मसौदा तैयार करने के लिए नियुक्त किया गया। उस वक्त डॉ. बी. आर. अंबेडकर ड्राफ्टिंग कमेटी के अध्यक्ष थे।

जबकि 15 अगस्त को भारत देश अपने स्वतंत्र का जश्न मनाता है। तो 26 जनवरी को भारत देश अपने संविधान के लागू होने का जश्न मनाता है।

भारत का संविधान 1947 में तैयार तो हो गया था मगर लागू हुआ 1950 में। नए संविधान के संक्रमणकालीन प्रावधानों के तहत भारत की संसद बनी और इसी दिन को भारत में गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Republic Day कैसे मनाया जाता है ?

गणतंत्र दिवस एक ऐसा त्यौहार है जो हर धर्म के लोग मनाते हैं। क्योंकि किसी भी धर्म से पहले हमें भारतवासी होने का धर्म निभाना चाहिए। गणतंत्र दिवस को काफी धूम धाम से मनाया जाता है। भारत का सबसे बड़ा Republic day मनाया जाता है भारत की राजधानी दिल्ली में।

यहां ध्वज फहराने के बाद में मिलिट्री परेड होती है। इस दिन भारत अपनी सैन्य शक्ति प्रदर्शन करता है। शक्ति प्रदर्शन के बाद भारत के सभी राज्य अपनी परंपरा और कल्चर का प्रदर्शन करते हैं।

इस दिन को स्कूल और कॉलेज मे भी ध्वज फहराया जाता है। इस दिन सभी विद्यार्थी स्कूल और कॉलेज में जाकर ध्वजारोपन करने से पहले परेड करते हैं और रैली भी निकालते हैं। इस दिन स्कूल और कॉलेज में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किए जाते हैं।

सांस्कृतिक कार्यक्रम शुरू होने से पहले स्कूल के प्रिंसिपल और अतिथि Republic day पर भाषण देते हैं। सांस्कृतिक कार्यक्रम में देश भक्ति पर गीत, नृत्य किए जाते हैं। और साथी अलग अलग प्रतियोगिता जैसे रंगोली प्रतियोगिता रखी जाती है। इस तरह गणतंत्र दिवस को मनाया जाता है।

Republic Day के दिन ध्वज कौन फहराता है ?

गणतंत्र दिवस के दिन भारत के संविधान के मुताबिक 26 जनवरी को राज पथ दिल्ली में हेड ऑफ इंडिया मतलब भारत के राष्ट्रपति ध्वज फहराते हैं।

Republic Day के दिन ध्वज फहराने का समय क्या होता है ?

Republic day के दिन सुबह 9:00 बजे भारत के प्रेसिडेंट ध्वज फहराते हैं और उसके बाद 9:30 पर मिलिट्री परेड शुरू की जाती है।

Military Parade On Republic Day

भारत की राजधानी दिल्ली यहां 26 जनवरी के दिन हर साल ध्वज फहराने के बाद 9:30 पर मिलिट्री परेड शुरू होती है। जो 3 घंटे तक चलती रहती है। इस परेड की तैयारी कुछ दिन पहले की जाती है। Republic day के दिन परेड की शुरुआत होती है राष्ट्रपति के आगमन से।

उसके बाद भारत के प्रधानमंत्री इंडिया गेट के अमर जवान ज्योति पर माल्यार्पण करते हुए उन भारत के वीरो को श्रद्धांजलि देते हैं जिन्होंने युद्ध में भारत देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी। उसके बाद भारत के राष्ट्रपति भारत के तिरंगे को फहराते हैं और इसके साथ ही राष्ट्रगान शुरू किया जाता है। और उसी के साथ ही २१ तोपों की सलामी राष्ट्रपति को दी जाती है।

राष्ट्रगान होने के बाद भारत की तीनों शक्ति दल अपनी शक्ति का प्रदर्शन करते है। शक्ति प्रदर्शन के आखिर में एयर फोर्स एक एयर शो करते है। और शक्ति प्रदर्शन को डेयरडेविल मोटर साइकिल स्टंट के साथ खत में किया जाता है। शक्ति प्रदर्शन के होने के बाद भारत के सारे राज्य अपने कल्चर और त्योहारों का प्रदर्शन करते हैं।

बीटिंग रिट्रीट समारोह – Beating Retreat Ceremony 

बीटिंग रिट्रीट एक सैन्य समारोह है जो गणतंत्र दिवस के बाद मनाया जाता है। बीटिंग रिट्रीट समारोह को गणतंत्र दिवस के 3 दिन बाद या ने 29 जनवरी के दिन शाम में मनाया जाता है।

इस समारोह में तीनों सेनाये हिस्सा लेती है। इस समारोह को सेनाओं के द्वारा मनाया जाता है। भारत की तीनों सेना जो की है इंडियन आर्मी, इंडियन नेवी और इंडियन एयरफाॅर्स।

इस समारोह को रायसीना हिल्स, विजय चौक जो केंद्रीय सचिवालय के उत्तर और दक्षिण ब्लॉक और राष्ट्रीय पति भवन से होकर राजपूत के अंतिम छोर तक जाता है वहां मनाया जाता है।

इस समारोह के अतिथि देश के राष्ट्रपति होते हैं जिन्हें मंच तक राष्ट्रपति के अंगरक्षक के देखरेख में लाया जाता है। जब राष्ट्रपति का आगमन किया जाता है तो ब्रिज ऑफ गार्ड के ट्रंपीटर्स द्वारा धूमधाम आवाज की जाती है।

और PBG (President Bodyguards) के कमांडर PBG यूनिट को राष्ट्रपति को सलामी देने के लिए कहते हैं। जिसके साथ ही राष्ट्रगान शुरू किया जाता है और उसी समय विजय चौक पर ध्वजारोहण किया जाता है।

सेना के विभिन्न भाग द्वारा समारोह में प्रदर्शन किया जाता है, जिसमें नौसेना और वायुसेना भी भाग लेते हैं। जो महात्मा गांधी के पसंदीदा धुन बजाते हैं और आखिर में “सारे जहां से अच्छा” धुन बजाई जाती है। और इस तरह बीटिंग रिट्रीट समारोह को 29 जनवरी के दिन मनाया जाता है।

पुरस्कार वितरण – Award Distribution

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर भारत के राष्ट्रपति Padma पुरस्कार भारत के नागरिकों को देते हैं। Padma पुरस्कार भारत रत्न के बाद एक बहुत ही महत्वपूर्ण पुरस्कार समझा जाता है। भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है।

Padma पुरस्कार की तीन श्रेणियां है, जो कि है Padma विभूषण Padma भूषण और Padma श्री।

  • Padma विभूषण को “असाधारण और विशिष्ट सेवा” के लिए दिया जाता है। यह भारत रत्न के बाद दूसरा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार है।
  • Padma भूषण पुरस्कार एक “उच्च क्रम की विशिष्ट सेवा” के लिए दिया जाता है। यह भारत का तीसरा बड़ा नागरिक पुरस्कार है।
  • Padma श्री पुरस्कार एक “प्रतिष्ठित सेवा” के लिए दिया जाता है। यह भारत का चौथा सबसे बड़ा पुरस्कार है।

इन पुरस्कार की प्राप्ति करने वालों को कोई भी पैसों की या कोई और विशेष लाभ नहीं दिए जाते हैं। यह एक ऐसा पुरस्कार है जो आदर और सत्कार के लिए दिया जाता है।

इस पुरस्कार को पुरस्कार प्राप्त करने वाले अपने नाम के आगे नहीं लगा सकते अगर वह ऐसा करते हैं तो उनका यह पुरस्कार उनसे वापस ले लिया जाएगा।


तो दोस्तो यह थी जानकारी गणतंत्र दिवस के बारे में (Republic day information in hindi), आशा करता हूं कि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो। अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी है तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर कीजिए। धन्यवाद!

Sharing is caring!

Leave a Comment